5 राशियों को शनिदेव देगे बड़ी राहत व सौगाते,34 दिन शनिदेव रहेंगेअस्त5 दिसम्बर 2017 से 7जनवरी 2018

5 राशियों को शनिदेव देगे बड़ी राहत व सौगाते,34 दिन शनिदेव रहेंगेअस्त5 दिसम्बर 2017 से 7 जनवरी 34 दिन के लिए शनि रहेंगे अस्त 5 राशियों को शनि से मिलेगी बड़ी राहत- 5 दिसम्बर से 7 जनवरी 2018 तक-\nज्योतिषाचार्य पंडित धर्मेंद्र शास्त्री भोपाल के अनुसार अखिल ब्रह्माण्ड के सर्वोच्च न्यायाधीश शनिदेवता अपने पिता एवं नवग्रहों के राजा सूर्यदेवता के अत्यंत समीप आने के कारन अस्त हो रहे है,ग्रह चक्र का सबसे प्रभावशाली ग्रह शनि वर्तमान में अस्थिरता लिए हुए है। शनि सूर्य के दोनों ओर 15अंश या इससे अधिक निकट आने पर अस्त कहलाता है।\nज्योतिषाचार्य पंडित धर्मेंद्र शास्त्री भोपाल के अनुसार किसी भी ग्रह के अस्त होने की स्थिति में उसकी शक्ति क्षीण हो जाती है और वह सुचारू रुप से फल नहीं दे पाता है। अस्त ग्रह निष्फल होते हैं मानों उनकी शक्ति ही उनसे छिन गई हो।फलित करते समय कोई ग्रह कितना अस्त है इसका ज्ञान होना आवश्यक है। ग्रह जितना अधिक अस्त होगा उतना फल देने में निष्फल होगा। गणना करके यह ज्ञात किया जा सकता है कि कोई ग्रह कितने प्रतिशत अस्त है। इसके लिए अस्त ग्रह की सूर्य से दूरी देखना आवश्यक होता है। तत्पश्चात ही उस ग्रह की कार्यक्षमता के बारे में सही ज्ञान होता है।ज्योतिषाचार्य पंडित धर्मेंद्र शास्त्री भोपाल के अनुसार २६ जनवरी २०१७ को शनिदेव धनु राशि में आये व ६ अप्रैल २०१७ को वक्री हुए एवं २० जून २०१७ को अतिवक्री होकर पुनः वृश्चिक राशि में चले गए इसके बाद २६ अगस्त को मार्गी हुए जो २६ अक्टूबर २०१७ को पुनः धनु राशि में चले गए जो की धनु राशि में लगातार २३ जनवरी २०२० तक रहेंगे इस कारण वृषभ,कन्या राशि को को ढैया एवं वृश्चिक,धनु मकर को साढ़ेसाती शनि रहेंगे,लेकिन शनिदेव के अस्त होने के कारण वृषभ,कन्या,वृश्चिक धनु,मकर की परेशानियाँ होगी समाप्त !कैसे हुआ शनि अस्त... सौर मंडल का कोई भी ग्रह सूर्य के अति निकट आ जाता है तो उसे अस्त कहते हैं। \nमेष - इस राशि के लिए शनि का अस्त होना शुभ रहेगा। कार्यों में सफलता और उन्नति के योग बन रहे हैं।\nवृषभ - वृष राशि वालों के लिए यह समय सफलता दिलाने वाला रहेगा। पुराने अटके हुए कार्यों से लाभ होगा।\nमिथुन - बुध ग्रह की राशि के लोगों को शनि के अस्त होने से धन लाभ प्राप्त होगा और मान-सम्मान मिलेगा।

Share: